CCTV कैमरा के ठेकों में LG लगा रहे लुट पर लगाम, इसलिए LG को गालियाँ दे रहे मालिक अरविन्द केजरीवाल

दिल्ली के मुख्यमंत्री जो की खुद को दिल्ली का मालिक बताते है हम बात कर रहे है अरविन्द केजरीवाल की, एक बार फिर दिल्ली के LG केजरीवाल के निशाने पर है और केजरीवाल LG और अपने विरोधियों को खुलेआम गाली, जूते से मारने की धमकियाँ भी दे रहे है

केजरीवाल तिलमिलाए हुए है, और असल वजह क्या है ये भी आपको समझना होगा, असल में केजरीवाल दिल्ली में CCTV लगवाने के लिए अपने किसी रिश्तेदार या करीबी को ठेका देना चाहते है, केजरीवाल CCTV कैमरा योजना के ठेके के जरिये अरबों रुपए की अवैध कमाई करना चाहते है, पिछले PWD के ठेके हो जो उनके साडू को दिए गए, या प्रचार के ठेके हो जो सिसोदिया के साले को दिए गए

ऐसे ठेकों से केजरीवाल और सिसोदिया ने भर भर की कमाई की है, अब CCTV के ठेके देने है तो केजरीवाल इस योजना से भी अरबों की कमाई करना चाहते है, अब इनका ट्रैक रिकॉर्ड देखते हुए LG भी सतर्क है, केजरीवाल LG पर आरोप लगा रहे है की LG ने CCTV की फाइल को रोक दिया है

 

पर केजरीवाल ये नहीं बता रहे की कौन सी फाइल को LG ने रोका है, उस फाइल का नंबर, सीरियल नंबर क्या है, उस फाइल को किसने भेजा है, कोई भी जानकारी केजरीवाल नहीं दे रहे है, और असल खेल क्या है ये भी आपको समझना होगा


हां तो ये है असल खेल, CCTVकैमरे पर खर्च करने है 131 करोड़ रुपए, पर जो टेंडर केजरीवाल ने पास कर दिया है, वो है 571 करोड़ रुपए का यानि शुद्ध 440 करोड़ रुपए ज्यादा, अब केजरीवाल ये 440 करोड़ की कमाई करना चाहते है

पर सतर्क LG ने केजरीवाल से सवाल कर दिए की CCTV कैमरा कहाँ और कितना लगेगा, और 1 CCTV कैमरे की क्या कीमत है, येही छोटे मोटे सवाल LG ने उठा दिए तो केजरीवाल ने उनको जूते से मारने की धमकियाँ अपनी रैलियों में देना शुरू कर दिया और जनता को बताने लगे की LG ने CCTV की फाइल रोकी हुई है

केजरीवाल ने CCTV योजना के जरिये 440 करोड़ की अवैध कमाई की योजना बनाई, अपने साथियों को टेंडर दिया, अब LG सवाल जवाब कर रहे तो मालिक केजरीवाल उनपर और अपने विरोधियों पर भड़क रहे, अरविन्द केजरीवाल की सरकार में उन्होंने दिल्ली में 1 भी काम बिना लुट के नहीं किया है, तो CCTV का काम बिना लुट के कैसे करेंगे, केजरीवाल का तो वसूल है जितने का काम उस से कम से कम 3 गुना लुट