पाक परस्तों द्वारा फिल्मफेर अवार्ड में अक्षय कुमार का अपमान, पाक परस्त सलमान के इशारे पर अपमान


आज अक्षय कुमार से जुड़ी दूसरी नकारात्मक ख़बर बताते हुए हमें ख़ुद भी काफ़ी दुःख हो रहा है लेकिन ख़बर तो आख़िर एक ख़बर है जो पाठकों को जाननी ही चाहिए । बता दें कि इस बार के फ़िल्मफ़ेयर अवॉर्ड में छोटे छोटे कलाकारों यहाँ तक कि चार पाकिस्तानियों को भी जगह दी गयी लेकिन हर दिल अज़ीज़ और देशभक्ति की सुपर हिट फ़िल्में बनाने वाले अभिनेता अक्षय कुमार को किसी भी कैटेगरी में कोई जगह नहीं दी गयी ।

सबसे बड़ी बात तो ये है कि भारतीय अभिनेता अक्षय कुमार को इस फिल्मफेयर अवार्ड 2016 से बिलकुल ही बाहर रखा गया है वो भी जब तब अक्षय कुमार की इस साल दो हिट फिल्में एयरलिफ्ट और रुस्तम आई थी लेकिन पाकिस्तानियों के प्रेम के चलते इस फिल्म फेयर अवार्ड में  4 पाकिस्तानियों को जगह दी गई है।

यह सबसे बड़ी दुर्भाग्यपूर्ण बात है पाकिस्तानी कलाकारों को भारत में चल रहे विरोध के बाद भी पुरस्कार और इनाम देने के लिए भारत में बुलाया जा रहा है। इस बात का सोशल मीडिया में बड़ा ही ज़बरदस्त विरोध हो रहा है। स्पष्ट ही है कि अक्षय कुमार जैसे राष्ट्रवादी हीरो की जगह चार पाकिस्तानी कलाकारों को नॉमिनेट किया गया है इसे साफ पता चलता है अवॉर्ड सेल हो रही है।

आपको ये तो पता ही होगा कि बॉलीवुड वालों को पाकिस्तान से इतना प्यार क्यूँ हैं यदि नहीं तो हम आपको बता देते हैं , भारत के बाद पाकिस्तान बॉलीवुड के लिए वो देश है जहाँ से इन लोगों को सबसे ज़्यादा कमाई होती है क्यूँकि पाकिस्तानी भारतीय फ़िल्मों के दीवाने हैं , 

लेकिन यहाँ ये भी जान लेना बेहद ज़रूरी है कि आज तक पाकिस्तान में हिट हुई दस सबसे बड़ी फ़िल्मों में से आठ मुस्लिम अभिनेताओं की हैं । पाकिस्तान के लोग फ़िल्में देखते वक़्त भी अभिनेता के मजहब यानी इस्लाम को ज़रूर याद रखते हैं ।

अक्षय कुमार के सारे फैन्स और सभी देशभक्त को लगता है कि, अक्षय कुमार को बेस्ट एक्टर की कैटेगरी में नॉमिनेट किया जाना चाहिए था । अक्षय की एयरलिफ्ट फिल्म देशभक्ति से भरी और बेहद अच्छी थी। फैन्स यह भी कह रहे हैं की ‘अक्की’ की बेबी फ़िल्म भी इतनी ही अच्छी थी लेकिन उस समय भी ‘अक्की’ को नज़रअंदाज़ किया गया था । तो देखा आपने कैसे बॉलीवुड में मजहब को लेकर भेदभाव हो रहा है ।