8 राज्यों में हिन्दुओ को मिलेगा अल्पसंख्यक का दर्जा, 14 जून को होगी मीटिंग

हिन्दुओ को अल्पसंख्यक का दर्जा

देश के 8 राज्यों में हिन्दू अल्पसंख्यक है, फिर भी वहां हिन्दुओ को अल्पसंख्यक का दर्जा नहीं है और जो लोग बहुसंख्यक है उन्हें अल्पसंख्यक के लाभ मिलते है, हिन्दुओ को अल्पसंख्यक का दर्जा मिलने की आस बढ़ गयी है

क्यूंकि 14 जून 2018 को नेशनल माइनॉरिटी कमीशन की बैठक तय कर दी गयी है जिसमे हिन्दुओ को 8 राज्यों में अल्पसंख्यक का दर्जा दिए जाने पर बात होगी और हिन्दुओ को अल्पसंख्यक का दर्जा दिया भी जा सकता है

इन राज्यों में पंजाब, जम्मू कश्मीर, मिजोरम, मेघालय, नागालैंड इत्यादि शामिल है, मोदी सरकार से पिछले कई दिनों से ये मांग की जा रही थी, और कुछ लोगों ने कोर्ट में याचिका भी डाली थी

 


हिन्दू अल्पसंख्यक होकर भी बहुसंख्यक गिना जाता है और अल्पसंख्यको को जो विशेष लाभ मिलते है वो भी उनको मिलते है जो बहुसंख्यक है

उदाहरण के तौर पर नागालैंड जहाँ पर इसाई समुदाय 90% है, हिन्दू 10% फिर भी अल्पसंख्यक में इसाई समुदाय ही आता है, ऐसा ही जम्मू कश्मीर, पंजाब और कई अन्य जगहों पर है

पर अब मोदी सरकार के अंतर्गत आने वाली माइनॉरिटी कमीशन हिन्दुओ को 8 राज्यों में अल्पसंख्यक का दर्जा देने पर बात करेगी और हिन्दुओ के साथ न्याय की उम्मीद भी जग गयी है