हथियारों का जखीरा पहले से जमा कर रखा था, मजहबी जगहों पर नजर रखने की है जरुरत : सोनम महाजन

महाराष्ट्र के औरंगाबाद में जिहादी समुदाय की भीड़ ने जुम्मा नमाज़ के बाद दंगा किया, दंगा इस बात को लेकर किया गया की प्रशासन ने पानी के अवैध इल-लीगल कनेक्शन को काटने की हिम्मत करी कैसे

एक मस्जिद ने अवैध पानी कनेक्शन लगाया हुआ था प्रशासन ने उस अवैध कनेक्शन को काट दिया जिसके बाद सुनियोजित तरीके से दंगा किया गया, 100 से ज्यादा हिन्दुओ की दुकानों को लुटा और जलाया गया, हिन्दुओ को टारगेट किया गया, पेट्रोल बम फेंके गए, लाठी डंडा, तलवारों का इस्तेमाल दंगों में किया गया

 


दंगे सुनियोजित तरीके से किये गए थे, दंगे करने के लिए अचानक से पेट्रोल, केरोसिन बम नहीं आ जाता, पहले से प्लानिंग की जाती है, हथियारों का जखीरा जमा करके रखा जाता है, भीड़ को हथियार दिए जाते है और उसके बाद दंगे शुरू होते है

मस्जिद में भीड़ आई नमाज़ पढ़ा और उसके बाद दंगे शुरू किये गए, सोनम महाजन ने मांग करी है की मजहबी जगहों पर नजर रखने की जरुरत है, हथियारों का जखीरा दंगे फसाद हिंसा करने के मकसद से जमा किये जाते है और सरकार मजहबी जगहों पर नजर रखे तो इस तरह के दंगों पर लगाम लगाई जा सकती है