वो धर्म देखकर बनाते है निशाना, और हम माने बैठे है की आतंकवाद का कोई मजहब ही नहीं होता

दैनिक भारत हमेशा से वामपंथियों, सेकुलरों और जिहादी शक्तियों के निशाने पर है, और ये इसलिए क्यूंकि हम वो बातें उठाते है जो उठाना साम्प्रदायिकता की श्रेणी में आ जाता है, भले ही वो कितना भी सच हो तर्कपूर्ण हो, तथ्यों से भरा हुआ हो

दैनिक भारत को बंद करवाने के लिए तरह तरह की कोशिशें की जाती है धमकी दी जाती है, पर हम अपने काम में लगे हुए है और आज आपके सामने एक बार फिर एक महत्व्यपूर्ण बिंदु रखने जा रहे है जिसपर आपने शायद अबतक गौर नहीं किया होगा

आप अक्सर सुनते होंगे की पाकिस्तानी सेना ने अरनिया सेक्टर में, पूंछ सीमा पर, राजौरी सीमा पर सीज फायर का उल्लंघन किया, अभी पिछले ही दिनों 4 हिन्दू नागरिकों की अरनिया सेक्टर में पाकिस्तान ने रमजान में हत्या की है, और कल ही 8 महीने के एक हिन्दू बच्चे को भी मार दिया है

आप अक्सर ये ही सुनते होंगे की पाकिस्तान ने सीज फायर तोडा, और इलाके हमेशा कॉमन होते है, पूंछ राजौरी का इलाका, कभी आपने सुना है की पाकिस्तान ने बारामुला की सीमा पर, कुपवाड़ा की सीमा पर सीज फायर तोडा हो, नहीं जी नहीं ऐसा नहीं करता पाकिस्तान, आपको सबसे पहले हम नक्षा दिखाते है

आप देख सकते है जम्मू कश्मीर की वर्तमान स्तिथि, कुछ इलाकों पर पाकिस्तान का कब्ज़ा है जिसे POK कहते है, आप देखिये जम्मू और कश्मीर के कौन कौन से इलाके पाकिस्तान के कब्जे वाले POK से लगे है जहाँ की सीमा पर पाकिस्तानी सेना है

ये जो पूंछ और राजौरी का इलाका है ये जम्मू में ही पड़ता है, जबकि कुपवाड़ा और बारामुला इत्यादि ये पड़ता है कश्मीर में, अब फर्क क्या है, फर्क ये है की पूँछ और राजौरी में सीमा पर हिन्दू रहते है, वैसे पुरे सीमा पर हिन्दू नहीं है, पर इन इलाकों में जहाँ पाकिस्तान सीज फायर तोड़कर हमला करता है यहाँ हिन्दू रहते है

जबकि कुपवाड़ा और बारामुला ये 100% मुस्लिम इलाका है, ये है फर्क, पूँछ और राजौरी में पाकिस्तान हमला करता है पर बारामुला कुपवाड़ा में नहीं, क्यूंकि पाकिस्तान धर्म देखकर हमला करता है, हमला वहीँ ताकि सिर्फ भारतीय सैनिक जो हिन्दू ही होते है अधिकतर, या फिर जो सिविलियन मरे या जिनका नुक्सान हो वो हिन्दू ही हो

धर्म देखकर पाकिस्तान और आतंकी हमले करते है, सबकुछ धर्म के ही आधार पर है, वरना पाकिस्तान तो जम्मू से ज्यादा कश्मीर पर कब्ज़ा करना चाहता है, उसे तो कश्मीर चाहिए पर वो कश्मीर के कुपवाड़ा या बरमुला पर हमले नहीं करता सिर्फ पूँछ और राजौरी वाले इलाकों में करता है, धर्म देखकर, सिर्फ हिन्दुओ को ही मारना चाहता है

और हम यहाँ माने बैठे हुए है की आतंकवाद का तो कोई धर्म ही नहीं होता, जबकि धर्म के आधार पर पाकिस्तान रमजान में हिन्दुओ को ही निशाना बना रहा है, और हम सेक्युलर लोग ये मानकर अपनी आँखों को बंद कर चुके है की आतंकवाद का कोई धर्म नहीं, भैया कोई धर्म नहीं तो हमले पूँछ और राजौरी में ही क्यों, बारामुला और कुपवाड़ा में क्यों नहीं !!