लिंगायतों को नहीं दिया टूटने, योगी ने जिन 35 सीटों पर की रैली सभी 35 जीती बीजेपी, 50% से ज्यादा वोट

कर्नाटका में बीजेपी ने जबरजस्त जीत हांसिल की है, और कर्णाटक की जीत में योगी आदित्यनाथ का बहुत ही बड़ा और महत्व्यपूर्ण योगदान रहा, कर्णाटक में बीजेपी ने योगी का जमकर इस्तेमाल किया और चुनाव प्रचार के आखिरी दिनों में योगी ने जबरजस्त रैलियां और जनसभा की

बीजेपी को इस बार लिंगायत वोटों के टूटने का डर था, कर्णाटक में बीजेपी के मूल वोटर लिंगायत ही है, पर इस बार कांग्रेस ने लिंगायतों को तोड़ने के लिए अलग धर्म देने का शिगूफा छोड़ा, जिसके बाद बीजेपी पर कुछ दबाव था

योगी को कर्णाटक में बीजेपी ने भेजा और कुल 35 सीटों पर रैलियां करवाई, और ये सभी वो सीटें जो की लिंगायत बहुल थी, योगी को खास इसी काम के लिए प्रदेश में भेजा, प्रदेश में लिंगायत सबसे बड़ा समूह है और उनकी आबादी 17% से भी ज्यादा है और कुल 67 सीट तो ऐसी जो लिंगायत बहुल है

 


कर्णाटक में बीजेपी के लिंगायत वोट को बचाया और लिंगायत वोट को टूटना नहीं दिया, ये न केवल बीजेपी के लिए अच्छा है बल्कि ये समाज के लिए ज्यादा अच्छा है की हमारे समाज के अंग लिंगायत नहीं टूटे, योगी ने जिन 35 सीटों पर रैलियां की वहां बीजेपी का वोट शेयर 51% से भी ज्यादा रहा

योगी ने 35 की 35 सीट पर बीजेपी को जीत दिलाई जहाँ उन्होंने रैली की और इसका असर पुरे कर्नाटक पर हुआ, योगी की जीत का स्ट्राइक रेट 100% रहा, सिद्धारमैया योगी के कर्णाटक आने का विरोध इसी कारण बहुत अधिक कर रहे थे, क्यूंकि वो जानते थे की लिंगायतों को योगी टूटने नहीं देंगे, और ऐसा ही हुआ, सिद्धारमैया जो योगी पर निशाना साध रहे थे वो खुद अपनी विधानसभा सीट नहीं बचा सके