रमजान में ज्यादा सतर्कता बरते सुरक्षा एजेंसीयां, आतंकी हमले ज्यादा होने की सम्भावना : इमाम ताव्हिदी

रमजान का महिना आने वाला है और इस समय सुरक्षा एजेंसीयों को ज्यादा सतर्कता बरतनी चाहिए, ये कहना है एक इमाम का, इमाम ताव्हिदी ने कहा है की रमजान के महीने में जिहादियों की 72 हूरें पाने की इक्षा बढ़ जाती है और जिहाद की ज्यादा सम्भावना हो जाती है

अभी कल ही फ्रांस की राजधानी पेरिस में आतंकी ने अल्लाह हु अकबर के नारे लगाते हुए 5 लोगों को चाकुओं से गोद दिया है, इसपर बयान देते हुए इमाम ताव्हिदी ने कहा की सुरक्षा एजेंसीयों को रमजान में ज्यादा सतर्कता बरतनी चाहिए क्यूंकि इस समय जिहादियों में जिहाद की इक्षा ज्यादा हो जाती है

 


इमाम ने कहा की रमजान का महीना आते ही मुसलमानों में जिहाद की भावना ज्यादा हो जाती है और बहुत से तो इस चाह में भी आ जाते है की वो अपना रोजा जन्नत में 72 हूरों के साथ तोड़े और ऐसे में आतंकी हमले होने की ज्यादा सम्भावना होती है और इसी कारण सुरक्षा एजेंसीयों को ज्यादा सतर्क रहना चाहिए

इमाम ताव्हिदी ने ये भी कहा की रमजान में पुलिस टीमो को मुसलमानों पर ज्यादा नजर रखनी चाहिए और वो किस प्रकार की गतिविधियाँ कर रहे है ये ट्रैक करना चाहिए, इस से आतंकी हमलो में कमी भी लाइ जा सकती है, अभी पेरिस में जिस आतंकी ने अल्लाह हु अकबर चिल्लाते हुए 5 लोगों को चाकुओं से गोद दिया, ये इसका उदाहरण है की रमजान का समय आते ही जिहाद की भावना इनमे और बढ़ जाती है