रमजान में खुद को उड़ा लेने से नहीं मिलेंगी 72 हूरें, वो भी रमजान मना रही होंगी : इमाम तव्हिदी

रमजान का महिना आने वाला है और अभी से जिहादियों ने आतंकी हमलों में बढ़ोतरी कर दी है, जिहादियों की हसरत रमजान के महीने में बढ़ जाती है और वो चाहते है की रमजान में वो जन्नत चले जाये और उन्हें वहां 72 हूरें मिले और वो 72 हूरों के साथ अपना रोजा इफ्तार करे

पर रमजान में जिहादियों को 72 हूरें नहीं मिलेंगी, और मिलेंगी भी तो हूरें उनके साथ सेक्स नहीं करेंगी, इमाम ताव्हिदी जो की इस्लामिक मजहब गुरु है उन्होंने इस बात को कहा है की रमजान में खुद को बम से उड़ा लेने पर जन्नत में 72 हूरें नहीं मिलेंगी

 


इमाम ने बताया की शरिया कानून के अनुसार अगर आप रमजान में सेक्स करते हो तो आपका व्रत टूट जाता है, इसलिए रमजान में सेक्स की मनाही है, रोजे से पहले आप सेक्स नहीं कर सकते, अप व्रत पर होते हो और सेक्स करोगे तो व्रत टूट जायेगा

इमाम ने आगे कहा की रमजान में खुद को बम से उड़ा लेने पर भी जन्नत में हूरें आपका स्वागत नहीं करेंगी, हूरें सेक्स के लिए नहीं मिलेंगी क्यूंकि जन्नत में भी रमजान का महिना होता है और वहां हूरें भी रमजान का व्रत करती है ऐसे में आपको उनसे सेक्स नहीं मिलेगा

बहुत से जिहादी ये सोचकर रमजान का इंतज़ार जिहादी हमलों के लिए करते है की इस पाक महीने में जन्नत जाकर हूरों के साथ लुफ्त उठाएंगे, पर असल में रमजान में खुद को बम से उड़ा लेने पर हूरें लुफ्त के लिए नहीं मिलने वाली है और इसी कारण रमजान में जिहादियों को आतंकवाद नहीं करना चाहिए, इस समय जिहाद का कोई फायदा नहीं है