मस्जिद का अवैध पानी कनेक्शन काटा तो लुट ली जुम्मा नमाज़ के बाद 100 दुकाने, किया दंगा : सुशिल पंडित

जहाँ पर जिहादी समुदाय के लोगों की संख्या अधिक हो, चाहे शहर कोई भी हो और सरकार कोई भी हो, वहां पर नियम और कानून की कोई वैल्यू नहीं होती, ऐसे इलाकों में आप को रेड लाइट पर कोई भी कानून का पालन करता दिखाई नहीं देगा, चाहे दिल्ली हो या मुंबई, जिहादी बहुल इलाकों में कानून की धज्जियाँ उड़ना एक रिवाज सा है

औरंगाबाद भी एक ऐसा ही इलाका है, और इस इलाके की स्तिथि ये है की यहाँ ओवैसी की पार्टी के विधायक भी है, औरंगाबाद में 2 दिन पहले जिहादी समुदाय के लोगों ने मस्जिद में नमाज़ के बाद दंगा शुरू किया, और दंगे का कारण जानकर आप चौंक जायेंगे

 


हुआ ये की एक मस्जिद ने अवैध पानी का कनेक्शन लगा रखा था, अब उसे प्रशासन ने काट दिया, फिर क्या था जुम्मा के लिए मस्जिद में नमाज़ की भीड़ आई और नमाज़ के बाद इलाके में दंगा कर दिया गया, 100 से ज्यादा दुकाने लुट ली गयी, खून खराबा किया था, दुसरे धर्म के लोगों की दुकानों को लुटा गया, ये शांतिप्रिय जुम्मा ही तो था

पेट्रोल बम फेंका गया, पूरी तैयारी के बाद दंगे को किया गया, वो भी इसलिए क्यूंकि अवैध काम को रोकने की हिम्मत प्रशासन ने आखिर कैसे की, ये दंगा जानबूझकर किया गया ताकि प्रशासन और आसपास के हिन्दुओ को सन्देश दिया जा सके की हम अवैध काम करेंगे और रोका गया तो दंगा करेंगे, और ऐसा ही हुआ जब पानी का कनेक्शन काटा गया तो हिन्दुओ को निशाना बनाकर 100 दुकानों को लुट लिया गया

दुकानों को आग लगाई गयी, इस दंगों पर मीडिया के लोग मौन है, चूँकि दंगा जुम्मा की नमाज़ी भीड़ ने किया, और वो भी अवैध पानी कनेक्शन को लेकर किया