भारत के 2 सबसे बड़े गुनाहगारों को भगाने का कार्य किया राजीव ने, और ये नवाजे गए भारत रत्न से

आज कांग्रेस देश भर में राजीव गाँधी की पुण्यतिथि बना रही है, राहुल गाँधी से लेकर एक एक कांग्रेस नेता और कांग्रेस समर्थक राजीव गाँधी की तारीफों के पुल बाँध रहा है

यहाँ तक की अन्य सेक्युलर नेता और बुद्धिजीवी भी राजीव गाँधी की खूब तारीफ कर रहे है, उन्हें महान नेता और न जाने क्या क्या बताया जा रहा है और सोशल मीडिया पर बड़ी बड़ी बातें की जा रही है

पर ऐसी बहुत से तथ्य है जिनपर कोई बात नहीं करना चाहता, और दैनिक भारत अपने पाठकों के सामने कुछ बिंदु पेश कर रहा है, जिसके बारे में कांग्रेस के लोग और उनके समर्थक 1 भी शब्द नहीं बोलना चाहते और ये भी नहीं चाहते की कोई और बोले

  • राजीव गाँधी की एक बड़ी उपलब्धि रही दिल्ली में सिखों का बड़े पैमाने पर किया गया कत्लेआम, राजीव गाँधी की देखरेख में ही सब हुआ पर राजीव गाँधी पर आजतक ऊँगली नहीं उठाई जाती
  • श्रीलंका में भारतीय सेना राजीव गाँधी ने भेजा, वहां पर शिन्ग्लाई बौद्ध हिन्दुओ पर पहले से अत्याचार करते रहे थे, राजीव गाँधी ने हिन्दुओ पर अत्याचार करने वालो की मदद की, हजारों हिन्दू श्रीलंका में मार दिए गए और हजारों भारतीय सैनिको को भी राजीव गाँधी ने शहीद करवा दिया
  • राजीव गाँधी का ही राज था की कश्मीर से 5 लाख से ज्यादा हिन्दुओ को मारकर, लूटकर भगा दिया गया, आजतक वो हिन्दू दर दर की ठोकरें खा रहे है, राजीव गाँधी ने श्रीलंका में तो सेना भेजी पर कश्मीर में हिन्दुओ की मदद को सेना नहीं भेजी
  • नीरव मोदी और माल्या से पहले इस देश से 2 और लोग भी भागे थे, एक था वारेन एंडरसन – इसने भोपाल में 16 हज़ार भारतीयों की हत्या की थी, राजीव गाँधी ने इसे रातों रात देश से भगवा दिया और ये कभी वापस नहीं पकड़ में आया और भोपाल में मारे गए 16 हज़ार भारतीयों को कभी न्याय मिला ही नहीं
  • राजीव गाँधी ने बोफोर्स घोटाला किया था, चूँकि केंद्र में उनकी ही सत्ता थी तो कार्यवाही कौन करे, फंसने लगे तो कुआतरोच्ची नाम के दलाल को इन्होने भारत से भगा दिया जो वापस कभी पकड़ में नहीं आया

राजीव गाँधी पर ऊपर के ये 5 बिंदु ऐतहासिक तथ्य है, और इसके बाबजूद राजीव गाँधी आज भारत रत्न भी है, और कांग्रेस पार्टी उनका खूब बखान कर रही है, पर ऊपर के इन 5 बिन्दुओं पर कोई मुह खोलने को भी तैयार नहीं है