“प्रे फॉर सीरिया” वाला सेक्युलर था थिरुमनी, सेकुलरिज्म देखने कश्मीर गया और वहां मार दिया गया

कुछ दिनों पहले कश्मीर में तमिलनाडु के एक टूरिस्ट थिरुमनी को जिहादियों ने पत्थरों से मारकर मौत के घाट उतार दिया, 22 साल का थिरुमनी तमिलनाडु का रहने वाला था और कश्मीर में घुमने के लिए गया था, थिरुमनी को कश्मीर में मार दिया गया, देश के लोग थिरुमनी के बारे में बस इतना ही जानते है और थिरुमनी को अब लोग भुला भी चुके होंगे

पर आज हम आपको थिरुमनी के बारे में बड़ी जानकारियां दे रहे है, ये शख्स कश्मीर में मात्र घुमने नहीं बल्कि सेकुलरिज्म का भी लुफ्त लेने गया था, जी हां

थिरुमनी का फेसबुक प्रोफाइल देखने लायक है, थिरुमनी भी दिल्ली के उसी युवक की तरह सेक्युलर था जिसे मुस्लिम परिवार ने गला काटकर मौत के घाट उतार दिया था, थिरुमनी फेसबुक पर अपने मुस्लिम मित्रो को खुश करने के लिए एंटी मोदी, एंटी हिंदुत्व और प्रो सीरिया बनता था, वो सीरिया के लिए प्रे करता था

और साथ ही थिरुमनी मोदी के मजाक वाले मेमे भी शेयर करता था और एंटी हिंदुत्व के पोस्ट भी किया करता था

 


थिरुमनी एक तमिल अलगाववादी ग्रुप का भी मेम्बर था जिसे तमिलनाडु के जिहादी चलाते है, वो पाकिस्तान का भी प्रो समर्थक था, एक बहुत ही बड़ा सेक्युलर था थिरुमनी और हिंदुत्व के खिलाफ फेसबुक पर पोस्ट करता था, इजराइल के खिलाफ पोस्ट करता था और सीरिया के लिए प्रार्थना भी करता था

वो आरएसएस के खिलाफ भी पोस्ट करता था और हिंदुत्व को आतंकवाद बताता था, वो कश्मीर, जिहादियों का प्रो समर्थक था, थिरुमनी का फेसबुक प्रोफाइल इस बात की गवाही दे रहा है की वो एक बहुत ही बड़ा सेक्युलर था


मोदी थिरुमनी के निशाने पर हमेशा रहते थे, वो अपने मुस्लिम मित्रों को फेसबुक पर खुश करने के लिए मोदी को तमिल भाषा में गालियाँ भी देता था, वो कश्मीर में सिर्फ घुमने ही नहीं बल्कि वहां सेकुलरिज्म नापने भी गया था, पर कश्मीर में इस प्रे फॉर सीरिया वाले सेक्युलर थिरुमनी को जिहादियों ने पत्थरों से मार दिया