मणिशंकर पाक जायें, राहुल चीनी राजदूत से मिले तो कोई समस्या नहीं, प्रणब मुखर्जी RSS में जायें तो समस्या

प्रणब मुखर्जी
प्रणब मुखर्जी

पूर्व राष्ट्रपति जो को अब दलगत राजनीती से सन्यास ले चुके है, वो देश के पूर्व राष्ट्रपति हैं, वो अपनी इक्षा से किसी कार्यक्रम में जा रहे है तो कांग्रेस पार्टी भड़क गयी है

कांग्रेस पार्टी को लगता है की प्रणब मुखर्जी अब भी मैडम और राहुल गाँधी के बंधुवा मजदुर है, और बिना मैडम और राहुल गाँधी से पूछे कोई कुछ कैसे कर सकता है


जिस कांग्रेस पार्टी को मनमोहन सिंह के पाकिस्तानी राजदूत से गुपचुप मुलाकात, राहुल गाँधी के चीनी राजदूत से गुपचुप मुलाकात, और मणिशंकर के पाकिस्तान जाने से कोई समस्या नहीं है,

उस कांग्रेस पार्टी को मुखर्जी के आरएसएस के कार्यक्रम में जाकर अपनी आज़ादी का इस्तेमाल करने से समस्या है