राहुल गाँधी की कांग्रेस दलितों के नाम पर देश में हिंसा करने के लिए कर रही नक्सलियों की फंडिंग

नक्सलियों की फंडिंग
नक्सलियों की फंडिंग

नक्सलियों की फंडिंग : आपको ध्यान होगा महाराष्ट्र के भीमा कोरेगाँव में दलितों के नाम पर हिंसा हुई थी, इस हिंसा में कांग्रेस नेता जिग्नेश मेवनी और JNU के उमर खालिद जैसे लोगों का भी हाथ था, पर ये हिंसा नक्सलियों द्वारा की गयी थी, और इसी को लेकर नया खुलासा हुआ है

टाइम्स नाउ नामक अंग्रेजी चैनल ने खुलासा किया है की, नक्सलियों की फंडिंग राहुल गाँधी की कांग्रेस पार्टी कर रही है, ताकि दलितों के नाम पर देश में अलग अलग जगह हिंसा फैलाई जा सके, और महाराष्ट्र के भीमा कोरेगाँव में जो हिंसा की गयी थी उसकी फंडिंग भी कांग्रेस पार्टी ने ही करी थी

ये हिंसा इसलिए कराई गयी थी ताकि देश में मोदी विरोधी लहर बनाई जा सके और लोगों को बताया जा सके की मोदी सरकार दलित विरोधी है, और दलितों पर अत्याचार किये जा रहे है

 


दरअसल अगले साल लोकसभा के चुनाव है, और राहुल गाँधी के पास मोदी के खिलाफ कोई ख़ास मुद्दे नहीं है इसी कारण कांग्रेस दलित, किसान, जातिवाद के नाम पर ही राजनीती करने में लगी है, दलितों के नाम पर हिंसा, भारत बंद भी कांग्रेस पार्टी ही करवा रही है, इसके अलावा जो मीडिया ये दिखाती है की किसान दूध सब्जी फेंक रहे है, असल में वो भी कांग्रेस के ही लोग है

 

लक्ष्य ये है की लोकसभा चुनाव से पहले देश में अराजकता की स्तिथि उत्पन्न की जा सके, ये अराजकता दलितों, किसानो, पिछड़ा वर्ग, और इसके अलावा अल्पसंख्यक वर्ग के नाम पर फैले, जिस से देश में सत्ता विरोधी लहर आये और मोदी को हराया जा सके

अभी जैसे जैसे लोकसभा चुनाव आयेंगे, अल्पसंख्यक वर्ग, किसान, दलित, पिछड़ा के नाम पर खूब राजनीती की जाएगी, और देश में अराजकता का माहौल उत्पन्न किया जायेगा