दिल्ली के 2 लुटेरे केजरीवाल और सिसोदिया, सारे ठेके अपने साडूओं और सालों को दिए, मिलकर चला रहे लुट

आप यकीन रखिये, अगर आपने ऐसे किसी को लुटेरा कह दिया तो आपके खिलाफ मुकदमा हो सकता है, पर आप दैनिक भारत पर यकीन रखिये आप सिसोदिया और केजरीवाल को लुटेरा कह सकते है और इनकी हिम्मत नहीं की ये आपके खिलाफ मुकदमा करें, क्यूंकि ये दोनों वर्तमान में दिल्ली के सबसे बड़े 2 लुटेरे है

एक है दिल्ली का मुख्यमंत्री और एक है उपमुख्यमंत्री, NGO के व्यापार के ज़माने से ही दोनों साथ है, और आज दिल्ली को ये दोनों मिलकर लुट रहे है, दिल्ली में लुट का व्यापार चला रहे है

सरकारी ठेकों के जरिये ये दिल्ली की जनता को लुट रहे है, ये ठेके अपने रिश्तेदारों को देते है, बिना टेंडर और बिना किसी फेयर नीति के, दिल्ली में PWD के ठेके केजरीवाल ने अपने साडू को दिए, जब कपिल मिश्र ने इस बात को कहना शुरू कर दिया तो अगले ही दिन साडू की रहस्यमय मौत हो गयी, और अब ACB ने केजरीवाल के साडू के बेटे को PWD घोटाले में गिरफ्तार भी किया है, केजरीवाल गिरफ्तार हुए शख्स का सगा मौसा है

आपको ध्यान होगा दिल्ली की फ्लाई ओवर हो बन रही थी उसमे क्रैक आ गया, ये केजरीवाल के साडू का ही तो काम है, पैसे केजरीवाल ने सरकारी खजाने से पुरे निकाले पर काम ऐसा की फ्लाई ओवर पर लोग चलना शुरू भी नहीं हुए की फ्लाई ओवर टूट गया, ये तो अच्छा हुआ पहले ही टूट गया वरना कई लोगों को मारने का इंतेज़ाम केजरीवाल ने कर रखा था

आपको ध्यान होगा दिल्ली में एडवरटाइजिंग के लिए 1-2 करोड़ नहीं बल्कि 500 करोड़ से ज्यादा खर्च किये गए, ये एडवरटाइजिंग के तमाम ठेके किसी और को नहीं बल्कि सिसोदिया के साले को दिए गए, यानि PWD के ठेके केजरीवाल के साडू को और एडवरटाइजिंग के ठेक सिसोदिया के साले को, और अपने रिश्तेदारों को ठेके देकर बाद में उनसे माल वापस लेना, हिस्सा वापस लेना, ये ही इस गिरोह का असल धंधा है इस गिरोह को आम आदमी पार्टी के नाम से भी जाना जाता है

 


अब केजरीवाल CCTV के ठेके भी अपने ही खास शख्स को देना चाहते है जिसमे LG अडंगा लगा रहे है और इसी कारण अब केजरीवाल LG पर दबाव बनाने के लिए तरह तरह के बयानबाजी भी कर रहे है, अगर ठेका फेयर नीति से टेंडर बुलाकर दिया जायेगा, तो फिर कमाई कैसे होगी, ठेका अपने खास आदमी को दिया जाये तब तो हिस्सा वापस लिया जा सकेगा उस से

PWD और प्रचार के ठेके केजरीवाल और सिसोदिया के रिश्तेदारों को देकर मोटी कमाई की गई है, और अज वर्तमान दिल्ली का हाल ये है की दिल्ली के 2 सबसे बड़े लुटेरे मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री बनकर घूम रहे है