8 महीने के नितिन के लिए कोई नहीं मांग रहा जस्टिस पर हम बोलेंगे – जस्टिस फॉर नितिन, जस्टिस फॉर नितिन

सीरिया का कोई बच्चा मर जाये, या सीरिया की फर्जी तस्वीर आ जाये, देश का सेक्युलर ब्रिगेड निकल पड़ता है और प्रे फॉर सीरिया जैसे मुहीम इस भारत देश में चलाये जाते है, पर जस्टिस फॉर नितिन ? अब ये जस्टिस फॉर नितिन क्या है

8 महीने के हिन्दू बच्चे को पाकिस्तान ने रमजान सीज फायर के दौरान जम्मू में मार दिया, 8 महिने का बच्चा हमेशा के लिए दुनिया से चला गया इस बच्चे का नाम भी देश में कोई नहीं जानता

इस बच्चे का नाम नितिन था, नितिन काफी एक्टिव बच्चा था, वो आम बच्चों की तरह ही रोज अपनी माँ को रोकर तंग करता था, फिर दुलार पाता था, पूरा घर नितिन की आवाज से गूंजता था

पर अब नितिन हमेशा के लिए चुप है, रमजान सीज फायर भले भारत ने कर रखा है पर इस्लामिक पाकिस्तान ने कोई रमजान सीज फायर नहीं किया और पाकिस्तान ने नितिन की रमजान में हत्या कर दी

देश का सेक्युलर ब्रिगेड पाकिस्तान का भी बहुत बड़ा समर्थक है शायद ये भी वजह है की जस्टिस फॉर नितिन जैसे शब्द सेक्युलर खेमे से सुनाई नहीं दे रहे है

एक दूसरी वजह ये भी है की नितिन हिन्दू था, और हिन्दुओ के लिए जस्टिस की मांग करना भी कदाचित साम्प्रदायिकता में आता है, वजह चाहे जो भी हो कोई भी मासूम नितिन के लिए जस्टिस की मांग नहीं कर रहा

पर दैनिक भारत अपनी आवाज जरुर उठायेगा और हम जस्टिस फॉर नितिन लिखेंगे, और बोलेंगे, क्यूंकि नितिन हमारा बच्चा था, हमारे देश का बच्चा था, जो आज हमारे बीच नहीं है